UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय

In this chapter, we provide UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय for Hindi medium students, Which will very helpful for every student in their exams. Students can download the latest UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय pdf, free UP Board Solutions Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय r book pdf download. Now you will get step by step solution to each question. Up board solutions Class 12 computer पीडीऍफ़

UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय

बहुविकल्पीय प्रश्न (1 अंक)

प्रश्न 1
निम्न में से कौन-सी प्रोग्रामिंग भाषा ऑब्जेक्ट ओरिएण्टेड प्रोग्रामिंग की सुविधा देती है?
(a) C
(b) C++
(c) BASIC
(d) ये सभी
उत्तर:
(b) C++ भाषा ऑब्जेक्ट ओरिएण्टेड प्रोग्रामिंग की सुविधा देती है।

प्रश्न 2
निम्न में से कौन-सा शब्द आइडेण्टीफायर नहीं हो सकता?
(a) lotus_123
(b) word
(c) const
(d) sum
उत्तर:
(c) const एक की-वर्ड है, जो आइडेण्टीफायर की तरह प्रयोग नहीं हो सकता।

प्रश्न 3
निम्न में से कौन C++ का मान्य फ्लोटिंग प्वॉइण्ट स्थिरांक है? [2018]
(a) 22.0/7
(b) 120
(c) 1.2.3
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(d) 22.0/7

प्रश्न 4
टाइप डाटा का साइज होता है। [2018, 17]
(a) 1 बाइट
(b) 2 बाइट
(c) 4 बाइट
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(b) 2 बाइट

प्रश्न 5
किस डाटा टाइप का परास – 32768 से 32767 है? [2016]
(a) इण्ट
(b) अनसाइण्ड इण्ट
(c) साइण्ड इण्ट
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(a) इण्ट डाटा टाइप का आकार 2 बाइट है, जिसकी रेंज (परास)- 32768 से 32767 होती है।

प्रश्न 6
किसका उपयोग इनपुट देने में किया जाता है?
(a) cin
(b) gets( )
(C) getchar( )
(d) ये सभी
उत्तर:
(d) C++ में, cin, gets ( ) तथा getchar ( ) को प्रयोग इनुपट युक्तियों से इनपुट देने के लिए किया जाता है।

प्रश्न 7
फंक्शन gets ( ), puts ( ), getchar ( ) तथा putchar ( ) किस हैडर फाइल में शामिल होते हैं?
(a) stdio.h
(b) iostream.h
(c) conio.h
(d) ये सभी
उत्तर:
(a) stdio.h

प्रश्न 8
निम्न में से कौन-सा इस्केप कैरेक्टर कर्सर के दायीं ओर 8 स्थान होता है? [2018]
(a) la
(b) b
(c) t
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(c) t

प्रश्न 9
कर्सर को Next Page पर ले जाने के लिए निम्न Escape sequence characters में से कौन-सा प्रयुक्त होता है? [2017]
(a) t
(b) n
(c) f
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर:
(c) f

अतिलघु उत्तरीय प्रश्न (1अंक)

प्रश्न 1
टोकन को परिभाषित कीजिए।
उत्तर:
प्रोग्राम में प्रयुक्त होने वाली सबसे छोटी इकाई को टोकन कहते हैं।

प्रश्न 2
वैरिएबल को परिभाषित कीजिए। [2011]
उत्तर:
मेमोरी की वह स्थिति जिसमें कोई मान या डाटा संग्रहीत रहता है। वैरिएबल कहलाता है।

प्रश्न 3
कैरेक्टर कॉन्स्टेण्ट से क्या तात्पर्य है?
उत्तर:
कैरेक्टर कॉन्स्टेण्ट में कोई वर्ण (अक्षर, अंक या चिह्न) एकल कोटेशन चिह्न (‘ ‘) में लिखे जाते हैं; जैसे-‘N’, ‘8’ तथा ‘*’ आदि।

प्रश्न 4.
जो ऑपरेटर दो ऑपरेण्डों पर क्रिया करते हैं, उन्हें क्या कहा जाता है?
उत्तर:
बाइनरी ऑपरेटर

प्रश्न 5
रिलेशनल ऑपरेटर्स को परिभाषित कीजिए। [2011]
उत्तर:
जिन ऑपरेटर्स का प्रयोग दो विभिन्न संख्याओं या एक्सप्रेशन की तुलना करने के लिए किया जाता है, रिलेशनल ऑपरेटर्स कहलाते हैं।

प्रश्न 6
C++ में, लॉजिकल ऑपरेटर्स कौन-कौन से हैं?
उत्तर:
C++ में लॉजिकल ऑपरेटर्स निम्न हैं।

  1. लॉजिकल एण्ड (AND)
  2. लॉजिकल और (OR)
  3. लॉजिकल नॉट (NOT)

प्रश्न 7.
जो ऑपरेटर वैरिएबल के बाद उपयोग किए जाते हैं, उन्हें क्या कहा जाता है?
उत्तर:
पॉस्टफिक्स ऑपरेटर

प्रश्न 8
पॉइण्टर एक्सप्रेशन से क्या तात्पर्य है?
उत्तर:
ऐसी एक्सप्रेशन जो एड्रेस का मान स्टोर और उसे प्रस्तुत करती है, पॉइण्टर एक्सप्रेशन कहलाती है।

प्रश्न 9
वैरिएबल sum का मान कॉन्सोल (स्क्रीन) पर दिखाने के लिए क्या कथन होगा?
उत्तर:
cout<<sum;

प्रश्न 10
प्रोग्राम के पहले आउटपुटों को क्लीयर करने के लिए किस कमाण्ड का प्रयोग किया जाता है?
उत्तर:
clrscr ( ) फंक्शन का प्रयोग पहले आउटपुटों को क्लीयर करने के लिए किया जाता है।

लघु उत्तरीय प्रश्न I (2 अंक)

प्रश्न 1
C++ की प्रमुख विशेषताओं का उल्लेख कीजिए। [2015, 14, 08]
उत्तर:
C++ की प्रमुख विशेषताएँ निम्न हैं।

  1. इसमें किसी भी समस्या की जटिलता को कम करने की क्षमता होती हैं।
  2. इसमें अलग-अलग प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम पर रन होने की क्षमता होती है।
  3. यह गणितीय एवं तार्किक ऑपरेटर का प्रयोग करता है।
  4. यह मशीन पर आत्मनिर्भर भाषा है।

प्रश्न 2
उदाहरण सहित टोकन का अर्थ समझाइए। [2015, 07]
उत्तर:
प्रोग्राम में प्रयुक्त होने वाली सबसे छोटी इकाई को टोकन कहते हैं। टोकन प्रोग्राम की अविभाज्य इकाई है। अनेक टोकन की क्रमबद्ध श्रृंखला से स्टेटमेण्ट बनते हैं। C++ में प्रयुक्त टोकन निम्न प्रकार हैं।

  1. की-वर्ड
  2. आइडेण्टीफायर
  3. कॉन्स्टेण्ट
  4. ऑपरेटर्स
  5. स्टिंग

प्रश्न 3
आइडेण्टीफायर तथा की-वई में अन्तर बताइए।
उत्तर:
आइडेण्टीफायर तथा की-वर्ड में अन्तर इस प्रकार हैं।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 1

प्रश्न 4
हैडर फाइल पर संक्षिप्त टिप्पणी कीजिए। [2012]
उत्तर:
वे फाइलें जिनमें लाइब्रेरी फंक्शन्स संकलित होते हैं, हैडर फाइल कहलाती हैं। C++ में, अनेक हैडर फाइल्स होती हैं, जो अलग-अलग फंक्शन्स को सम्मिलित करती हैं।
जैसे <iostream.h> हैडर फाइल cin और cout के लिए तथा <atdio.h> हैडर फाइल gets ( ), puts ( ), getchar ( ) और putchar ( ) फंक्शन्स के लिए होती हैं।

प्रश्न 5
निम्नलिखित प्रोग्राम का आउटपुट क्या होगा?
#include<iostream.h>
void main( )
{
int age;
cout<<“Mera “;
cout<<” Bharat “;
cout<<” Mahan. “;
cout<<“Vande Mataram !”;
}
उत्तर:
Mera Bharat Mahan. Vande Mataram !

प्रश्न 6
डाटा प्रकार के उदाहरण देकर व्याख्या संक्षेप में कीजिए। [2018]
उत्तर:
कम्प्यूटर में दिए जाने वाले इनपुट को डाटा कहते हैं। प्रत्येक प्रोग्राम किसी डाटा पर किसी विशेष क्रम में क्रियाएँ करता है और ये डाटा एक टाइप पर निर्भर करते हैं, जिन्हें डाटा टाइप कहते हैं।
उदाहरण
इण्टीजर डाटा टाइप जैसे – 453, 75 आदि
करैक्टर डाटा टाइप जैसे – ‘M’, ‘+’ आदि।
फ्लोट डाटा टाइप जैसे – 154.02, 145.44 आदि

प्रश्न 7
C व C ++ के बीच कोई दो अन्तर बताइट। [2017]
उत्तर:

C एक प्रोसीजर ओरिएण्टेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है।c++ एक प्रोसीजर प्रोग्रामिंग तथा ऑब्जेक्ट ओरिएण्टेड प्रोग्रामिंग दोनों लैंग्वेज का मिश्रण है।
C में इनहेरिटेन्स की सुविधा उपलब्ध नहीं है।C++ में इनहेरिटेन्स की सुविधा उपलब्ध है।

लघु उत्तरीय प्रश्न II (3 अंक)

प्रश्न 1
C++ के सन्दर्भ में अर्थमैटिक तथा लॉजिकल ऑपरेटर्स को समझाइए। [2011, 09]
उत्तर:
अर्थमैटिक ऑपरेटर्स ये ऑपरेटर्स सामान्य अर्थमैटिक क्रियाओं में प्रयोग किए जाते हैं। इस प्रकार के ऑपरेटर को बाइनरी ऑपरेटर भी कहा जाता है। अर्थमैटिक ऑपरेटर्स निम्न प्रकार हैं।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 2

लॉजिकल ऑपरेटर्स इन ऑपरेटर्स का प्रयोग दो लॉजिकल या सम्बन्धवाचक एक्सप्रेशन को जोड़ने में किया जाता है। ये ऑपरेटर्स बूलियन बीजगणित के अन्तर्गत आते हैं। लॉजिकल ऑपरेटर्स निम्न प्रकार हैं।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 3

प्रश्न 2
रिलेशनल ऑपरेटर का प्रयोग करके एक प्रोग्राम लिखिए। [2016]
उत्तर:
#include<iostream.h>
void main( )
{
int a = 20, b= 10;
if (a==b)
{
cout<<“a is equal to b”;
}
else
{
cout<<“a is not equal to b”;
}
}

प्रश्न 3
C++ में ऑपरेटर्स तथा एक्सप्रेशन्स को समझाइए। [2016]
उत्तर:
ऑपरेटर्स किसी विशेष प्रकार के डाटा पर की जाने वाली क्रिया को व्यक्त करने के लिए जिस चिह्न का प्रयोग किया जाता है, उसे ऑपरेटर कहते हैं।
ऑपरेटर्स निम्न प्रकार के होते हैं।

  1. अंकगणितीय ऑपरेटर
  2. लॉजिकल ऑपरेटर
  3. रिलेशनल ऑपरेटर
  4. असाइनमेण्ट ऑपरेटर
  5. कण्डीशनल ऑपरेटर
  6.  इन्क्रीमेण्ट तथा डिक्रीमेण्ट ऑपरेटर्स

एक्सप्रेशन कोई एक्सप्रेशन एक या एक से अधिक वैरिएबलों, कॉन्स्टेण्टों तथा ऑपरेटरों का एक ऐसा वैध (Valid) समूह है, जिसका C++ भाषा में एक निश्चित मान निकाला जा सकता है। सभी एक्सप्रेशन को ऑपरेटर की प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाता है। एक से ज्यादा ऑपरेटर्स की समान प्राथमिकता होने पर एक्सप्रेशन को बाएँ से दाएँ हल किया जाता है। एक्सप्रेशन निम्न प्रकार की होती है।

  1. अंकगणितीय एक्सप्रेशन
  2. सम्बन्धवाचक एक्सप्रेशन
  3. लॉजिकल एक्सप्रेशन
  4. पॉइण्टर एक्सप्रेशन

प्रश्न 4
निम्न को परिभाषित कीजिए।
(i) cin
(ii) cout
(ii) getch ( )
उत्तर:
(i) cin यह एक फंक्शन न होकर ऑपरेटर है, जिसका कार्य इनपुट युक्तियों द्वारा इनपुट देना है। cin को >> चिह्न के साथ प्रयोग किया जाता है। इसकी हैडर फाइल <iostream.h> है।
(ii) cout यह भी एक ऑपरेटर है, जिसका कार्य आउटपुट युक्ति द्वारा ‘ आउटपुट प्रदर्शित करना है। यह << चिह्न के साथ प्रयोग किया जाता है। इसकी हैडर फाइल <iostream.h> है।
(iii) getch ( ) यह एक फंक्शन है, जिसका प्रयोग प्रोग्राम रन करने के बाद आउटपुट को स्क्रीन पर रोकने के लिए किया जाता है। इसकी हैडर फाइल <conio.h> है।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न (5 अंक)

प्रश्न 1
उदाहरण सहित C++ के विभिन्न प्रकार के ऑपरेटर्स को समझाइए। [2007]
उत्तर:
किसी विशेष प्रकार के डाटा पर की जाने वाली क्रिया को व्यक्त करने के लिए जिस चिह्न का प्रयोग किया जाता है, उसे ऑपरेटर कहते हैं।
C++ में प्रयुक्त ऑपरेटर्स के निम्न प्रकार हैं।

(i) अंकगणितीय ऑपरेटर्स ये ऑपरेटर्स सामान्य अर्थमैटिक क्रियाओं में प्रयोग किए जाते हैं, इन्हें बाइनरी ऑपरेटर भी कहा जाता है। अंकगणितीय ऑपरेटर्स निम्न हैं।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 4

(ii) रिलेशनल ऑपरेटर्स इन ऑपरेटर्स का प्रयोग दो विभिन्न संख्याओं या एक्सप्रेशन की तुलना करने के लिए किया जाता है। रिलेशनल ऑपरेटर्स निम्न हैं। कम अधिक कम या बराबर अधिक या बराबर बराबर
बराबर नहीं।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 5

(iii) लॉजिकल ऑपरेटर्स इन ऑपरेटर्स का प्रयोग दो लॉजिकल या सम्बन्धवाचक एक्सप्रेशन को जोड़ने में किया जाता है। ये ऑपरेटर्स बूलियन बीजगणित के अन्तर्गत आते हैं। लॉजिकल ऑपरेटर्स निम्न हैं।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 6

(iv) असाइनमेण्ट ऑपरेटर्स इन ऑपरेटर्स का प्रयोग किसी वैरिएबल की वैल्यू निश्चित करने या बदलने के लिए किया जाता है।
असाइनमेण्ट ऑपरेटर्स निम्न हैं।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 7

प्रश्न 2
निम्न पर टिप्पणी लिखिए
(i) ऑपरेटर प्राथमिकता
(ii) इनपुट-आउटपुट फंक्शन
उत्तर:
(i) ऑपरेटर प्राथमिकता एक्सप्रेशन को हल करने के लिए ऑपरेटर की प्राथमिकता का ज्ञान होना आवश्यक है, क्योंकि सभी एक्सप्रेशन को ऑपरेटर्स की प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाता है। एक एक्सप्रेशन में दो या दो से अधिक ऑपरेटर्स की समान प्राथमिकता होने पर एक्सप्रेशन को बाएँ से दाएँ क्रम में हल किया जाता है।
UP Board Solutions for Class 12 Computer Chapter 9 C++ का परिचय 8

(ii) इनपुट-आउटपुट फंक्शन सभी कम्प्यूटर प्रोग्राम में, इनपुट युक्तियों द्वारा इनपुट दिया जाता है, जो प्रोसेस होकर आउटपुट युक्तियों द्वारा उटपुट प्रदर्शित करता है। C++ भाषा में, इनपुट-आउटपुट क्रियाओं के लिए, जो फंक्शन प्रयोग किए गए हैं, उन्हें इनपुट-आउटपुट फंक्शन कहा जाता है, जिनकी अलग हैडर फाइल होती है। C++ में प्रयुक्त होने वाले कुछ इनपुट-आउटपुट फंक्शन निम्न प्रकार हैं।

  • gets( )
  • puts( )
  • putchar( )
  • getchar( )

प्रश्न 3
C++ के प्रोग्राम के ढाँचे को समझाइए। [2013, 11, 09]
उत्तर:
C++ भाषा में, प्रोग्राम की संरचना का ज्ञान होना अति आवश्यक है, क्योंकि इसके बिना हम कोई भी प्रोग्राम नहीं बना सकते हैं।
C++ का साधारण प्रोग्राम

#include<iostream.h>
#include<conio.h>
void main( )
{
clrscr( );
cout<<“This is Arihant”;
getch( );
}

उपरोक्त प्रोग्राम की पहली पंक्ति # include<iostream.h> से शुरू है, जो प्रीप्रोसेसर डाइरेक्टिव है जिसमें cout की परिभाषा शामिल है।

दूसरी पंक्ति में #include<conio.h>, clrscr( ) तथा getch( ) फंक्शन्स की हैडर फाइल हैं जो इनके बारे में सूचना देती है।
यदि प्रोग्राम में क्लास डिफाइन नहीं है तो इसके बाद main( ) फंक्शन आता है, जिसमें प्रोग्राम का कथन लिखा जाता है।
{ } (curly braces) का प्रयोग main ( ) फंक्शन की शुरुआत व अन्त को प्रदर्शित करता है।
clrscr ( ) फंक्शन का प्रयोग आउटपुट स्क्रीन से पहले आउटपुट को हटाने के लिए किया जाता है।
cout<<” This is Arihant”;
यह प्रोग्राम का मुख्य कथन है, जो स्क्रीन पर This is Arihant प्रदर्शित करेगा।
getch ( ) फंक्शन का प्रयोग आउटपुट को स्क्रीन पर रोकने के लिए किया जाता है।

All Chapter UP Board Solutions For Class 12 computer Hindi Medium

—————————————————————————–

All Subject UP Board Solutions For Class 12 Hindi Medium

*************************************************

I think you got complete solutions for this chapter. If You have any queries regarding this chapter, please comment on the below section our subject teacher will answer you. We tried our best to give complete solutions so you got good marks in your exam.

यदि यह UP Board solutions से आपको सहायता मिली है, तो आप अपने दोस्तों को upboardsolutionsfor.com वेबसाइट साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.