UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Introduction

In this chapter, we provide UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Introduction, Which will very helpful for every student in their exams. Students can download the latest UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Introduction pdf, free UP Board Solutions Class 12 English The Merchant of Venice Introduction book pdf download. Now you will get step by step solution to each question. Up board solutions Class 12  

UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Introduction

About William Shakespeare
His Life :
Shakespeare was born on 23rd April, 1564 at Stratford-on-Avon in Warwickshire, England. His father was a merchant and belonged to a respectable family. He married Anne Hathaway, who was eight years older than he.

His Education : At the age of seven years he was admitted to the Grammar School of his native village. Here, he learnt Latin and English. He studied here till the age of fourteen. Then he had to discontinue his studies due to decline in his father’s business.

His Literary Career : Shakespeare started his literary career as a horse boy at the Globe Theatre. Then he revised, re-wrote and re-modelled old plays. But soon he made rapid progress and was known as the most popular playwright of his time. He wrote 37 plays, 154 sonnets and many poems. He wrote tragedies, comedies, historical plays and poems.

Dramatis Personae (Characters of the Play)

Introduction to the Merchant of Venice
The Merchant of Venice is a romantic comedy. The word “romantic’ here means an unreal story which passes beyond the limits of ordinary life. The word ‘comedy means a dramatic story with a happy ending. Thus when we call the Merchant of Venice a romantic comedy, we mean that it is a play, the story of which is unreal, passes beyond the limits of ordinary life and has a happy ending. But some modern critics have also called it a tragi-comedy. Now the term tragi-comedy is applied to a play in which serious and comic scenes are blended and the end of which is some what tragic. With reference to the Merchant of Venice, this remark has some truth. For the play abruptly moves to comedy from an atmosphere of seriousness. Nevertheless, the play is not a tragedy-nor we may call it a tragi-comedy, since the end of the play is comic.

(Merchant of Venice एक romantic comedy है, शब्द ‘romantic का यहाँ अर्थ है एक अवास्तविक कहानी जो साधारण जीवन की सीमाओं से हटकर व्यतीत हो। शब्द ‘comedy’ का अर्थ है एक नाटकीय कथा जिसका अन्त सुकदाई हो इस प्रकार जब हम Merchant of Venice Ta romantic comedy कहते हैं तब हमारा अर्थ होता है कि यह एक ऐसा नाटक है जिसकी कथा वास्तविक नहीं हैं, जो साधारण जीवन की सीमाओं से हटकर व्यतीत होती है और जिसका अन्त आनन्दपूर्ण है। किन्तु कुछ आधुनिक आलोचक इसे tragi-comedy भी कहते शब्द tragi-comedy उस नाटक पर लागू होता है जिसमें गम्भीर और हँसी मजाक के दृश्य मिले हुए हों और जिसका अन्त कुछ दुःखदायी हो। Merchantof Venice के सन्दर्भ में इस कथन में कुछ सत्यता है। क्योंकि नाटक अचानक गम्भीरता के वातावरण से comedy की ओर चल पड़ता है। फिर भी नाटक न तो tragedy है और न हम इसे tragi-comedy कह सकते हैं क्योंकि नाटक का अन्त सु:खदायी है।

Play at a Glance
Play opens in a street of Venice. Antonio is sad but knows no reason of his sadness. His friend Bassanio asks him a loan to enable him to go to Belmont and try to win the hand of Portia. Antonio has no ready money. He sends him to a money lender to take money on loan of on his behalf.

Then the play shifts to a room in Portia’s house in Belmont. According to the will of Portia’s father the young man who chooses the right casket out of three-gold, silver and lead—will win the hand of Portia. There are so many suitors and Portia is making comments on the character of some princely suitors already there. Now the scene shifts to a public place in Venice. Bassanio asks Shylock for a loan of three thousand ducats for three months. Shylock agrees to grant the loan if Antonio signs a bond of the penalty condition. Penalty is one pound flesh from Antonio’s body. Antonio agrees and signs the bond.

Now the play shifts to a room in Portia’s house in Belmont. There are three main suitors to win the hand of Portia, Prince of Morocco chooses the golden casket and gets in it a death’s head. Prince of Arragon chooses the silver casket and gets a fool’s portrait in it. Then Bassanio arrives and chooses the leaden casket. He gets Portia’s portrait in it. Thus Bassanio marries Portia and Gratiano marries Nerissa. Launcelot leaves the service of Shylock and Bassanio appoints him his servant. On the other hand Jessica, the only daughter of Shylock, elopes with Lorenzo and takes away a lot of money and jewels of Shylock with her. Shylock had gone to a farewell feast of Bassanio and had given all the keys of his house to Jessica. The news of Jessica’s elopement has maddened Shylock with grief.

Shylock gets the news that Antonio’s ships have sunk in the sea. The repayment time of the bond is about to end. So he decides to file a suit against Antonio and to demand a pound of flesh from his body.

At the time when Bassanio is to be married to Portia, he gets a letter from Antonio that he is in trouble and Shylock is adamant to take one pound of flesh from his body. Bassanio and Gratiano atonce leave for Venice with a lot of money.

Portia seeks advice from a great advocate Dr. Bellario to defend the case of Antonio. Portia and Nerrisa, dressed as a lawyer and a clerk reach the court to defend Antonio. No plea and no appeal of mercy could move Shylock. Then Portia allowed Shylock to cut a pound of flesh from Antonio’s body but without shedding a drop of blood or less or more flesh. The jew recoils and asks only for his money. Then, he is charged for plotting against the life of a citizen. But Duke pardoned him with three conditions (1) turn into a Christian, (2) give up usury, (3) all his estate will go to Lorenzo and Jessica after his death. He accepts the conditions with broken heart. Then all are happy and make merry Antonio’s three ships are reported to be safe. Thus the jew got right punishment for his cruelty. The play ends in a very happy atmosphere.

नाटक पर एक दृष्टि (नाटक वेनिस के एक मोहल्ले में खुलता है। एण्टोनियो दु:खी है किन्तु अपने दु:ख का कारण नहीं जानता। उसका मित्र बेसैनियो उससे पैसा उधार माँगता है ताकि वह बेलमॉण्ट जाकर पोर्शिया से शादी कर सके। एन्टोनियो के पास तुरन्त धन तैयार नहीं है। वह उसे किसी महाजन पर भेजता है और उसकी ओर से धन उधार लेने को कह देता है।

अब नाटक बेलमॉण्ट में पोर्शिया के कमरे में चला जाता है। पोर्शिया के मृत पिता की वसीयत के अनुसार वह नवयुवक जो तीन में से (सोने, चाँदी और सीसे के) एक सही बक्सा चुनेगा, वही पोर्शिया से विवाह करेगा। बहुत से व्यक्ति वहाँ हैं और पोर्शिया कुछ राजकुमार उम्मीदवारों के चरित्र पर टिप्पणी कर रही है। अब दृश्य वेनिस के आम स्थान पर चला जाता है। बेसैनियो शाईलाक से तीन हजार ड्यूकेट्स तीन माह के लिए उधार माँगता है। शाइलॉक इस शर्त पर धन उधार देने को सहमत हो जाता है यदि एण्टोनियो ऐसे रुक्के पर हस्ताक्षर करे जिसमें जुर्माना भी हो। जुर्माना होगा एण्टोनियो के शरीर से एक पौंड मांस, एण्टानियो सहमत हो जाता है और बॉण्ड पर हस्ताक्षर कर देता है।

अब दृश्य पुन: बेलमॉण्ट में पोर्शिया के मकान के एक कमरे में चला जाता है। वहाँ मुख्य तीन उम्मीदवार हैं। जो पोर्शिया से विवाह करना चाहते हैं। मोरक्को का राजकुमार सोने का डिब्बा चुनता है जिसमें उसे एक लाश की खोपड़ी मिलती है। अरागॉन का राजुकमार चाँदी का डिब्बा चुनता है, उसमें उसे एक मूर्ख का चित्र मिलता है। फिर बेसैनियो पहुँचता है और वह सीसे का बक्सा चुनता है, उसमें उसे पोर्शिया का चित्र प्राप्त होता है। इस प्रकार बेसैनियो पोर्शिया से विवाह कर लेता है और ग्रेशियानो का भी नेरिसा से विवाह हो जाता है।

लाँसलॉट शाइलॉक की नौकरी छोड़ देता है और बेसैनियो उसे अपना सेवक नियुक्त कर लेता है। दूसरी और जेसिका जो शाइलॉक की इकलौती पुत्री है, लारेंजो के साथ भाग जाती है और शाइलॉक का काफी सारा धन और गहने अपने साथ ले जाती है। शाइलॉक बेसैनियो की विदाई पार्टी में गया हुआ था और घर की सारी चाबियाँ जेसिका को दे गया था। जेसिका के भाग जाने के समाचार को सुनकर शाइलॉक दुःख से पागल हो गया। शाइलॉक को समाचार मिलता है कि एण्टोनियो के जहाज समुद्र में डूब गए हैं। रुक्के की अदायगी का समय, भी समाप्त हो रहा है। अतः वह एण्टोनियो के विरुद्ध मुकदमा डालने का निश्चय कर लेता है और उसके शरीर से एक पौंड मांस लेने का भी निश्चय कर लेता है।

उसी समय जब बेसैनियो का पोर्शिया के साथ विवाह होना है तभी उसे एण्टोनियो को पत्र मिलता है कि वह परेशानी में है और शाइलॉक उसके शरीर से एक पौंड मांस लेने की जिद पर अड़ा हुआ है। बेसैनियो और ग्रेशियानो काफी धन लेकर तुरन्त वेनिस की ओर चल पड़ते हैं। पोर्शिया एक बड़े वकील बेलारियो से एण्टोनियो का मुकदमा लड़ने की सलाह लेती है। पोर्शिया और नेरिसा वकील के और एक बाबू के कपड़े पहनकर एण्टोनियो को बचाने के लिए कोर्ट में पहुँच जाते हैं। कोई भी तर्क और कोई भी दया की अपील शाइलॉक को प्रभावित नहीं कर सकी। फिर पोर्शिया शाइलॉक को

एण्टोनियो के शरीर से एक पौंड मांस लेने की स्वीकृति दे देती है किन्तु रक्त की एक बूंद भी न बहे और मांस भी कम या ज्यादा न हो। यहूदी अब पलट जाता है और केवल अपना ही धन माँगने लगता है। फिर उसके ऊपर आरोप लगता है कि उसने एक नागरिक के जीवन के विरुद्ध षडयन्त्र रचा है। किन्तु ड्यूक तीन शतौं के साथ कर देता है (1) वह ईसाई बन जाए, (2) वह सुधख़ोरी बन्द कर दे और (3) उसकी सारी सम्पत्ति उसकी मृत्यु के बाद लॉरेंजो और जेसिका को मिलेगी। वह दुःखी मन से शर्तों को स्वीकार कर लेता है। फिर सभी प्रसन्न हो जाते है और खुशियाँ मनाते हैं। एण्टोनियो के तीन जहाजों के सुरक्षित लौट आने का भी समाचार मिलता है। इस प्रकार यहूदी को उसके अत्याचार का सही दण्ड मिल जाता है। बहुत आनन्द के वातावरण में नाटक का अन्त होता है।

All Chapter UP Board Solutions For Class 12 English

—————————————————————————–

All Subject UP Board Solutions For Class 12 Hindi Medium

*************************************************

I think you got complete solutions for this chapter. If You have any queries regarding this chapter, please comment on the below section our subject teacher will answer you. We tried our best to give complete solutions so you got good marks in your exam.

यदि यह UP Board solutions से आपको सहायता मिली है, तो आप अपने दोस्तों को upboardsolutionsfor.com वेबसाइट साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *